Home Uncategorized Lok Sabha Election 2019 के अंतिम चरण से पहले तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव को हुआ अपने गलती का एहसास

Lok Sabha Election 2019 के अंतिम चरण से पहले तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव को हुआ अपने गलती का एहसास

loading...

पटना : किसी ने सच ही कहाँ है कि हसिया कितना भी टेढ़ा क्यों न हो वो खिचता हमेसा अपने तरफ ही है इस कथन को आज लालू प्रसाद यादव के दोनों बेटे तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव ने सिद्ध भी कर दिया अभी तक तो आपस में झगड़ रहे ये दोनों भाई ने अपना-अपना गुस्सा थूक कर अपनी सबसे बड़ी बहन मीसा भारती की जीत के लिए मिलकर मैदान में उतर गए हैं। जानकारी के लिए बता दें कि तेजप्रताप ने हाल में राजद की छात्र इकाई के संरक्षक पद से इस्तीफा दे चुके थे। तथा उन्होंने लोकसभा चुनाव के लिए अपने द्वारा चुने  गये नामों की अनदेखी किये जाने के बाद भी कुछ सीटों पर राजद उम्मीदवारों के खिलाफ प्रचार भी किया.

वही अपनी बहन मीसा भारती के प्रति उनकी वफादारी देखने को मिला और वह उनके पक्ष में अपनी मां राबड़ी देवी के साथ सुबह से ही प्रचार करते नजर आ रहें हैं. बीते रविवार को यह पहली बार देखने को मिला जब उन्होंने अपने भाई तेजस्वी के साथ मिलकर बहन के लिए प्रचार के लिए मैदान में दिखे. बता दें कि भारती पाटलिपुत्र से चुनाव लड़ रहीं हैं। और पिछले बार 2014 के लोकसभा चुनाव में वह हार गयी थीं.

भारती का सामना केंद्रीय मंत्री एवं मौजूदा सांसद रामकृपाल यादव से है. रामकृपाल कभी लालू के बहुत ही करीबी हुआ करते थे. वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले वह भाजपा का दामन थाम लिए थे. रविवार को निर्वाचन क्षेत्र में एक रैली के दौरान दोनों भाई तेज प्रताप और तेजस्वी साथ खड़े दिखे और उन्होंने चारा घोटाले से संबंधित मामलों में कैद की सजा काट रहे अपने पिता लालू की एक तस्वीर को अपने हाथो में ले रखा था. तेजप्रताप यादव ने अपने छोटे भाई के लिए भी ‘‘प्यार’ दिखाया और कहा कि वह उन्हें (तेजस्वी) अर्जुन के रूप में देखते हैं तथा खुद उनकी मदद भगवान कृष्ण की तरह कर रहे हैं.

तेजप्रताप और उनके परिवार के बीच पहली बार विवाद तब सामने आया था जब उन्होंने अपनी पत्नी (ऐश्वर्या) के खिलाफ तलाक की अर्जी दाखिल की थी. विवाद तब और बढ़ गया था जब उनके ससुर एवं पूर्व मंत्री चंद्रिका राय को सारण से राजद प्रत्याशी चुना गया. बता दें कि लालू और राबड़ी देवी दोनों ही सारण से चुनाव लड़ चुके हैं. राजद के एक नेता ने नाम उजागर न करने की शर्त पर बताया कि मीसा भारती के समझाने पर दोनों भाई एक साथ आए. भारती ने दोनों को एक साथ बैठाया और कहा कि एक-दूसरे से लड़ने से वे भाजपा नीत राजग के जाल में फंस जाएंगे जो उनकी पार्टी को खत्म करना चाहता है.

 

Load More Related Articles
Load More In Uncategorized

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

बेखौफ बदमाशों ने दिनदहाड़े बैंक कैशियर को गोली मारकर लूटे 1 लाख 70 हजार रुपये

बेखौफ बदमाशों ने दिनदहाड़े बैंक कैशियर को गोली मारकर लूटे 1 लाख 70 हजार रुपये चौबेपुर थाना…