Home समाचार अन्तर्राष्ट्रीय OMG! टेक्नोलॉजी के दौर में फ्रांस में लव लेटर्स की इतनी कीमत, सुनकर उड़ जएंगे होश

OMG! टेक्नोलॉजी के दौर में फ्रांस में लव लेटर्स की इतनी कीमत, सुनकर उड़ जएंगे होश

Loading...

पेरिस। यह जानकर आप हैरान रह जाएंगे कि एक शासक द्वारा अपनी पत्नी को भेजा गया प्रेम पत्र 575,000 डॉलर यानि 3.97 करोड़ रुपए में बिका। जी हां फ्रांस के शासक नेपोलियन बोनापार्ट ने अपनी पत्नी को जो पत्र लिखे थे वह कल नीलाम किये गए जिसकी नीलामी के लिए इतनी भारी भरकम रकम रखी गयी। यह पत्र 1796 से 1804 के बीच में लिखे गए थे। 1796 में इटली अभियान के दौरान लिखे गए एक पत्र में नेपोलियन ने कहा, “मेरी प्यारी दोस्त, तुम्हारी ओर से कोई पत्र नहीं मिला। जरूर कुछ खास चल रहा है, इसलिए आप अपने पति को भूल गई हैं।

काम और बेहद थकावट के बीच में केवल और केवल आपकी याद आती है।’’ 15 अगस्त 1769 को जन्मे नेपोलियन को फ्रांसीसी क्रांति (1789) का बेटा कहा जाता है। क्रांति के बाद नेपोलियन ने फ्रांस का नेतृत्व किया था। 19वीं सदी की शुरुआत में उसने लगभग पूरे यूरोप पर अधिकार कर लिया था। 1804 से 1815 तक वह फ्रांस का शासक रहा। 1804 में नेपोलियन ने फ्रांस का शासक बनने से एक दिन पहले जोसेफाइन से शादी कर ली। 1809 में नेपोलियन ऑस्ट्रिया के खिलाफ लड़ने के लिए बावेरिया जा रहा था। जोसेफाइन ने भी साथ चलने की जिद की लेकिन नेपोलियन ने बात नहीं मानी।

अभियान से लौटकर आने के बाद नेपोलियन ने जोसेफाइन को तलाक दे दिया। ब्रिटेन के नेल्सन से ट्रैफलगर के युद्ध में हार के बाद नेपोलियन को निर्वासित कर कोर्सिका द्वीप भेज दिया गया। 1821 में उसकी मौत हो गई। फ्रेंच एडर और एगुट्स हाउसों की ओर से ऐतिहासिक थीम पर आधारित नीलामी में एक दुर्लभ इनिग्मा एन्क्रिप्शन मशीन को भी शामिल किया गया था। इसका इस्तेमाल जर्मनी ने द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान किया था। इसकी नीलामी 48100 यूरो (करीब साढ़े 37 लाख रुपए) में हुई। पिछले साल हुई 14 नीलामियों में 26.4 मिलियन यूरो (करीब 205 करोड़ रुपए) की नीलामी हुई थी।

Load More Related Articles
Load More In अन्तर्राष्ट्रीय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

शहीद पति की चिता के सामने खाई थी पत्नी ने कसम-बेटे को भी भेजूंगी सेना में फिर…

सच ही किसी ने कहाँ है कि खुले आखँ से सपना देखो तो जरुर पूरा होता इस कहावत को जीता जगता उदा…